लबों पे नर्म तबस्सुम रचा के धुल जाएँ, 
ख़ुदा करे मेरे आँसू किसी के काम आएँ.

Related Tabssum Shayari :